बाहरी सहायता के बारे में संक्षेप में | Ministry of Earth Sciences

बाहरी सहायता के बारे में संक्षेप में

Print

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय से वित्त पोषण  प्राप्त करने  हेतु नीचे वर्णित  विषय क्षेत्र की सभी परियोजनाओं को निर्धारित फार्मेट में प्रस्तुत किया जा सकता है।

वित्त पोषण के विभिन्न विषय क्षेत्र है:-

  1. वायुमंडलीय विज्ञान
    • मूल मानसून अनुसंधान
    • मानसून परिवर्तनीयता और पूर्वानुमान
    • लघु अवधि पूर्वानुमान
    • मेसोस्‍केलप्रणालियां और पूर्वानुमान
    • जलवायु परिवर्तनीयता और परिवर्तन
    • जलवायु मॉडलिंग, जलवायु सेवाएं

    परियोजना मूल्यांकन और मॉनीटरिंग समिति का गठन-वायुमंडलीय विज्ञान, दिनांक 21 सितंबर, 2016

  2. पृथ्‍वी प्रणाली विज्ञान प्रौद्योगिकी 

    एमओईएस के टीआरबी के लिए परियोजना मूल्यांकन और मॉनीटरिंगसमितियों का पुनर्गठन सूचनार्थ, दिनांक 15 नवंबर, 2016

  3. भू विज्ञान

    भू विज्ञान पर परियोजना मूल्यांकन और मॉनीटरिंग समिति का पुनर्गठन, दिनांक 02/11/2016

  4. जल विज्ञान और हिमांकमंडल

    परियोजना मूल्यांकन और मॉनीटरिंग समिति का गठन -जल विज्ञान और हिमांकमंडल, दिनांक 21 नवंबर, 2016

  5. समुद्र विज्ञान और संसाधन
    • समुद्री प्रेक्षण
    • समुद्री मॉडलिंग
    • समुद्री सेवाएं
    • तटीय क्षेत्र प्रबंधन
    • समुद्री पारिस्‍थितिकी
    • समुद्री जैव भू रसायन विज्ञान
    • समुद्री जैव प्रौद्योगिकी

    समुद्री विज्ञान और सेवाओं के लिए परियोजना मूल्यांकन और मॉनीटरिंग समिति (पीएएमसी) का पुनर्गठन, दिनांक 27 अक्‍तूबर, 2016

  6. भूकंप विज्ञान और भूकंप पूर्व संकेतक
    • भूकंप वैज्ञानिक अध्‍ययन
    • हिमालयी क्षेत्र की भूगतिकी
    •  भूकंप आपदा आकलन
    • जीपीएस आधारित भू गणितीय अध्‍ययन
    • सहायक भू भौतिकी अध्‍ययन
    • भूकंप पूर्व संकेतक अध्‍ययन
    • भू तकनीकी जांच और स्‍थल प्रतिक्रिया अध्‍ययन
    • सक्रिय फॉल्‍ट/नियोटेक्‍टोनिक्‍स
    • पुरा भूकंप वैज्ञानिक अध्‍ययन
    • भूकंप इंजीनयरिंग संबंधित अध्ययन
    • क्षति परिदृश्‍य

    कार्यक्रम सलाहकार और मॉनीटरिंग समिति (पीएएमसी) का गठन-भूकंप विज्ञान और भूकंप पूर्व संकेतक कार्यक्रम, 7 नवंबर, 2016

प्रस्तावों की तीन हार्डप्रतियों के साथ-साथ प्रधान अन्‍वेषणकर्त्ता से अंडरटेकिंग और संस्थान के अध्यक्ष से प्रमाण पत्र के साथ निर्धारित फार्मेट में निम्नलिखित पते पर भेजा जा सकता है:

 

(नीचे उल्‍लेख किए गए परियोजना के विषय क्षेत्र के अनुसार अधिकारी का नाम)
पृथ्‍वी विज्ञान मंत्रालय
पृथ्‍वी भवन, इंडिया हैबीटैट सेंटर  के सामने
लोधी रोड़, नई दिल्‍ली 110003, भारत

 

(लिफाफे पर परियोजना के विषय क्षेत्र का स्पष्ट रूप से उल्लेख होना चाहिए)
विषय क्षेत्र अधिकारियों के  नाम
वायुमंडलीय विज्ञान डॉ. (श्रीमती) परविंदरमैनी, कार्यक्रम अध्यक्ष
पीएएमसी (वायुमंडलीय विज्ञान),
पृथ्वी प्रणाली विज्ञान प्रौद्योगिकी डॉ.एम.पी.वाक्‍डीकर
कार्यक्रम अध्यक्ष,टीआरबी (ईएसएस)
भू विज्ञान डॉ. (श्रीमती) परविंदरमैनी, कार्यक्रम अध्यक्ष
पीएएमसी (भू विज्ञान)
जल विज्ञान और हिमांकमंडलडॉ. विजय कुमार
कार्यक्रम अध्यक्ष,पीएएमसी (जल विज्ञान और हिमांकमंडल)
समुद्र विज्ञान और संसाधन डॉ. के. सोमासुन्‍दर
कार्यक्रम अध्यक्ष,पीएएमसी (समुद्र विज्ञान और संसाधन)
भूकंप विज्ञान और भूकंप पूर्व संकेतक डॉ. अरुण के गुप्‍ता
कार्यक्रम अधिकारी, (भूकंप विज्ञान और भूकंप पूर्व संकेतक)

इसके अतिरिक्‍त, विषय क्षेत्र के अनुसार निम्‍नलिखित ई मेल पते पर एक सॉफ्ट कॉपी भेजने की आवश्‍यकता है:

ई मेल विवरण
विषय क्षेत्रईमेल पता
वायुमंडलीय विज्ञान rdeas[dot]as1[at]moes[dot]gov[dot]in
पृथ्‍वी प्रणाली विज्ञान प्रौद्योगिकी rdeas[dot]trb[at]moes[dot]gov[dot]in
भू विज्ञान rdeas[dot]geo[at]moes[dot]gov[dot]in
जल विज्ञान तथा हिमांकमंडलrdeas[dot]crhy[at]moes[dot]gov[dot]in
समुद्र विज्ञान एवं संसाधन irdos[at]moes[dot]gov[dot]in
भूकंप विज्ञान एवं भूकंप पूर्व संकेतकgupta[dot]arun[at]nic[dot]in

Note: On this website in all email addresses "[at]" ="@" and "[dot]" = " . "

Last Updated On 06/27/2018 - 10:53
Back to Top