भारतीय तट पर तटीय परिसंचरण और तलछट ट्रांसपोर्ट मॉडलिंग

Print

तटरेखा पर प्राकृतिक प्रक्रमों और मानव निर्मित गतिविधियों के कारण अनेक भू – आकरिकी बदलावों का प्रभाव होता है। तट रेखा के बदलाव भारतीय तट सहित अनेक हिस्‍सों में गंभीर समस्‍याओं में से एक हैं। तटीय परिसंचरण को समझना और तट रेखा के बदलावों को जानना अनिवार्य है ताकि इसे भावी पीढियों के लिए सुरक्षित रखा जा सके। तट रेखा के पीछे हटने के कारण तट को नुकसान पहुंचता है और परिणामस्‍वरूप तटीय रेखा को हानि होती है जिससे तट पर रहने वाले समुदायों के लिए खतरा बनता है। तटीय रेखा में होने वाले बदलावों को समझने के लिए आवश्‍यक प्रमुख जानकारी तटीय परिसंचरण और तलछट परिवहन पैटर्न हैं। अत: 12वीं योजना के दौरान इस विषय में एक व्‍यापक कार्यक्रम लिया जाएगा।

क) उद्देश्‍य

तटीय जल में तटीय परिसंचरण और तलछट परिवहन प्रक्रमों को समझना, जो तटीय रेखा में बदलावों के आकलन की सुविधा के लिए प्राथमिकता क्षेत्रों में तलछट परिवहन के मौसम पैटर्न की जानकारी देते हैं।

  • तटरेखा नक्‍शों में परिवर्तन करने के लिए नक्‍शे के उपग्रह और क्षेत्र सत्‍यापन का उपयोग कर तटरेखा बदलाव का आकलन करना।
  • एमओईएस के अन्‍य कार्यक्रमों और सीमित अवलोकन कार्यक्रमों से एकत्र भारतीय तट के डेटा का उपयोग करने सहित 3-4 क्षेत्रों के लिए क्षेत्रीय तटीय परिसंचरण मॉडल की स्‍थापना।
  • द्वितीयक आंकड़े और नदी के किनारे पर्यावरण अवलोकन के उपयोग से तलछट परिवहन दर का प्रकोष्‍ठ वार / क्षेत्र वार का आकलन करने के लिए तलछट परिवहन मॉडलिंग।

कार्यान्‍वयन की विधि

तट रेखा के बदलावों के घटक मुख्‍य रूप से राष्‍ट्रीय स्‍तर पर इकमाम – पीडी द्वारा सांख्यिकी विश्‍लेषणों के साथ मॉडलिंग और जीआईएस अनुप्रयोग पर फोकस के साथ कार्यान्वित किए जाएंगे। डेटा संग्रह, सांख्यिकी मॉडलिंग और क्षेत्रीय स्‍तर के लिए तलछट बजट अभिकलन पर घटकों को इकमाम पीडी और एनआईओटी द्वारा संयुक्‍त रूप से कार्यान्वित किया जाएगा। सामान्‍य परियोजना दस्‍तावेज उपरोक्‍त संस्‍थानों के बीच कार्य के विभाजन के साथ तैयार किए जाएंगे और इन विवरणों को अनुभाग 3.8.6 में भी दर्शाया गया है।

  1. चयनित स्‍थानों और वार्षिक / आवधिक तटरेखा बदलावों के मानचित्रण के लिए संपूर्ण देश के लिए 1:25000 और 1:5000 पैमाने पर जीआईएस आधारित तटरेखा बदलाव मानचित्रों का डेटाबेस।
  2. तटीय परिसंचरण और तलछट परिवहन को प्रभावित करने वाली प्रक्रिया को समझना ।
  3. तलछट आवागमन की दिशा और मौसम के अनुसार तलछट बजट के आकलन पर स्‍थान वार जानकारी।
Last Updated On 02/18/2015 - 10:40
Back to Top