मेट्रोपोलिटन वायु गुणवत्ता और मौसम सेवा

Print

हाल ही में, आईआईटीएम ने वायु प्रदूषण के वर्तमान स्‍तर को समझने और दिल्‍ली में वर्ष 2010 में हुए राष्‍ट्रमंडल खेलों के दौरान 24-48 घंटे पहले से उनके स्‍तर का पूर्वानुमान लगाने के लिए वायु प्रदूषण मॉनीटरन और पूर्वानुमान (सफर) की प्रणाली को सबसे पहले सफलतापूर्वक विकसित एवं कार्यान्‍वित किया है। राष्‍ट्रमंडल खेलों के दौरान प्रचालनात्‍मक सेवा के अलावा, सफर प्रणाली ने अनेक वैज्ञानिक परिणामों को उजागर किया, जो दिल्‍ली शहर जैसे महानगर में वायु गुणवत्ता खराब होने की ओर इशारा करते हैं, जो स्‍वास्‍थ्‍य तथा कृषिउपज और दीर्घ काल में जलवायु परिवर्तन पर भी प्रतिकूल प्रभाव डालती है। इन वैज्ञानिक उपलब्‍धियों का महत्‍वपूर्ण सार यह है कि नियमित सफर प्रणाली न केवल जनसूचना का अनिवार्य उपकरण है बल्‍कि यह विभिन्‍न प्रदूषकों के आकाशीय स्‍थानीय विचलन को वैज्ञानिक तरीके से समझाने में भीउपयोगी है। इस कार्य से सफर का विस्‍तार अन्‍य महानगरों तक भी, जिनमें भारत के कुछ बड़े शहर शामिल हैं, तक करने का प्रस्‍ताव है। इसे गहन प्रेक्षणात्‍मक नेटवर्क और उच्च विभेदन वायु रसायन विज्ञान-परिवहन पूर्वानुमान मॉडल, दोनों का उपयोग कर पूरा किया जाएगा। महत्वपूर्ण गैसीय और कण प्रदूषकों के उच्च विभेदन उत्सर्जन सूची की वायु गुणवत्ता के विकास की सही स्थिति का पूर्वानुमान करने का प्रस्ताव भी है।

 क) उद्देश्य:

  1. वायुमंडलीय रसायन विज्ञान और जलवायु के अध्ययन के तहत भारत के प्रमुख महानगरों (दिल्ली, पुणे, चेन्नै, कोलकाता, मुंबई, बेंगलूर, हैदराबाद आदि सहित ) में वायु गुणवत्ता पूर्वानुमान और अनुसंधान (सफर) प्रणाली विकसित करना ।
  2. विभिन्‍न मेट्रोपोलिटन शहरों के लिए मौसम और वायु गुणवत्ता के बारे में जानकारी के लिए मौसम का निकट वास्तविक समय और 1-2 दिन अग्रिम पूर्वानुमान प्रदान करना ।
  3. प्रतिकूल मौसम की चेतावनी सहित महानगरों के विभिन्न वर्गों में भविष्‍यवाणी और लघु अवधि पैमाने पर मौसम का तात्‍कालिक पूर्वानुमान।
  4. ज़रूरत के आधार पर विस्तृत अनुकूलित मौसम विज्ञानी उत्पादों को उपलब्ध कराना ।
  5. स्वास्थ्य और कृषि पर वायु प्रदूषण के प्रभाव का अध्ययन करना ।

 ख)   प्रतिभागी संस्थान :

  1. भारतीय उष्णदेशीय मौसम विज्ञान संस्थान, पुणे
  2. एनसीएमआरडब्‍ल्‍यूएफ, नई दिल्ली
  3. भारत मौसम विज्ञान विभाग, दिल्ली

 ग)          कार्यान्वयन योजना:

  1. मुख्य महानगरों में मेसो-शहरी प्रेक्षण नेटवर्कों की संस्थापना।
  2. प्रस्तावित महानगरों के लिए वायु प्रदूषकों की उच्च विभेदन गतिशील उत्सर्जन इन्‍वेटरी का विकास।
  3. निरंतर ऊपरी हवा के प्रेक्षणों के लिए पवन प्रोफाइलर, रेडियोमीटर और पवन लिडार ।
  4. मेसो पैमाने और तात्‍कालिक पूर्वानुमान मॉडल का संरुपण और प्रचालन ।
  5. विभिन्न प्रस्तावित शहर डोमेन के लिए नेस्टेड उच्च विभेदन वायुमंडलीय रसायन शास्त्र परिवहन पूर्वानुमान मॉडल का संरुपण और संचालन।

गतिशील वेब आधारित पोर्टल और सार्वजनिक प्रदर्शन प्रणालियों के माध्यम से वायु गुणवत्‍ता पूर्वानुमान सेवाओं का प्रचालन।

भारतीय उष्णदेशीय मौसम विज्ञान संस्थान (आईआईटीएम) सफ़र प्रणाली का समन्‍वय करेगा और उसके विकास के प्रयास करेगा और पूर्वानुमान कौशल में सुधार लाने के अपने प्रयास जारी रखेंगा।  एनसीएमआरडब्‍ल्‍यूएफ युग्मित मौसम मॉडल के लिए सीमा स्‍थितियां उपलब्‍ध कराने में मदद करेगा और वायु गुणवत्ता और मौसम डेटा के सदृशीकरण में भी मदद करेगा ।  सफ़र प्रणाली के पूरी तरह से विकसित होने और संचालन के लिए परीक्षण के बाद, इसे परिचालन सेवाओं के लिए भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) को अंतरित कर दिया जाएगा । राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय भागीदारों को, रासायनिक परिवहन मॉडल के पैरामीटरीकरण में सुधार करने और वायु गुणवत्ता पूर्वानुमान के लिए वित्तपोषण हेतु प्रावधान करने के लिए ऑनलाइन सीटीएम  प्रारंभ करने में वैश्विक एमएसीसी सीमा स्थितियां लागू करने के लिए चिह्नित किया जाएगा। इन भागीदारों को आईआईटीएम में एचपीसी सुविधा का उपयोग करने की अनुमति दी जाएगी। 

  घ)     डेलीवरेबल्‍म:

  1. कम से कम 6 महानगरों में एक संचालन सेवा के रूप में राष्‍ट के लिए वायु गुणवत्‍ता पूर्वानुमान एवं अनुसंधान (सफर) प्रणाली का विकास कर समर्पित करना।
  2. व्यापक मौसमी वायु प्रदूषण परिदृश्य बताना और अध्ययन के तहत विभिन्न महानगरों के लिए अलग-अलग उत्सर्जन स्रोतों का सापेक्ष योगदान ।
  3. पड़ोसी राज्‍यों से प्रदूषक पाथवे की पहचान और अलग-अलग शहरों के लिए इसकी व्‍याख्‍या के साथ-साथ स्‍थानीय की तुलना में दूर के स्रोतों का सापेक्ष योगदान ।
  4. वायु पदूषकों के वितरण में मौसम विज्ञान की भूमिका और प्रदूषकों के आकाशीय-स्‍थानिक आचरण तथा उनकी स्‍थान विशिष्‍ट परिवर्तनशीलता का पता लगाना
  5. जनता के बीच जागरुकता फैलाने के लिए एक तंत्र तैयार करना और हवा की गुणवत्ता के बारे में प्रचालन सेवाओं के रूप में अग्रिम स्तर पर सूचना प्रदर्शित करके हमारे स्वास्थ्य की रक्षा के लिए न्‍यूनीकरण कार्यनीतियों के लिए आधार तैयार करना ।

 ड़.)   विदेशी मुद्रा घटक सहित बजट की आवश्यकता: 90.00 करोड़ रुपए

(करोड़ रु. में)

बजट  आवश्यकता

योजना का नाम

2012-13 2013-14 2014-15 2015-16 2016-17

कुल

मेट्रोपोलिटन वायु गुणवत्ता और मौसम सेवा 25.00 30.00 20.00 10.00 5.00 90.00

 

Last Updated On 05/26/2015 - 14:36
Back to Top