आउटरीच और जागरूकता

Print

पृथ्वी, वायुमंडल और महासागर विज्ञान के बारे में जागरूकता लाने और प्रचार करने और साथ ही वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय द्वारा आउटरीच और जागरूकता कार्यक्रम कार्यान्वित किए जाते है। इसमें सेमिनार, सम्मेलन और कार्यशाला को सहायता देते हुए सूचना और जानकारी के विनिमय के जरिए वैज्ञानिक, रंजीनियर, सामाजिक वैज्ञानिक और प्रयोक्‍ता समुदाय को एक साझा मंच प्रदान किया जाता है।

प्रदर्शनियां, मेले, गोष्ठियां और संगोष्ठियां

वैज्ञानिकों, इंजीनियरों, प्रौद्योगिकीविदों विशेषज्ञों, सामाजिक वैज्ञानिकों और प्रयोक्‍ता समुदायों के लिए पृथ्वी प्रणाली विज्ञान के क्षेत्र में विभिन्न प्रदर्शनी और सेमिनार / संगोष्ठियां / कार्यशालाएं आयोजित की गई हैं। कई अकादमिक संस्थान, अनुसंधान संस्थान, सीएसआईआर प्रयोगशालाएं, विश्वविद्यालय, ग़ैर सरकारी संगठन, सरकारी निकाय आदि इस क्षेत्र में गतिविधियों में शामिल रहे हैं। इसके अलावा आउटरीच गतिविधियों में टेलीविजन और प्रिंट मीडिया, ओलम्पियाड, क्विज व अन्य प्रतियोगिताओं आदि को लोकप्रिय बनाना शामिल है। ये प्रयास पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय द्वारा समर्थित हैं।

क) उद्देश्‍य :

जनता, विद्यार्थी और प्रयोक्‍ता समुदायों के बीच पृथ्वी, वायुमंडल और महासागर विज्ञान के बारे में जागरूकता लाना।

ख) प्रतिभागी संस्‍थाएं :

पृथ्वी प्रणाली विज्ञान संगठन, दिल्ली।

ग) कार्यान्‍वयन योजना :

मंत्रालय भारत और विदेश में विभिन्न प्रदर्शनियों में सक्रिय रूप से भाग ले रहा है, जिनमें अनुसंधान और विकास कार्यक्रमों और उपलब्धियों पर प्रकाश डाला गया। ग्यारहवीं पंचवर्षीय योजना की अवधि के दौरान 125 राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों में भाग लिया गया है। मंत्रालय, अनुसंधान और विकास कार्यक्रमों और उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए भारत और विदेश में विभिन्न प्रदर्शनियों में भाग लेना जारी रखेगा।

पृथ्वी दिवस समारोह:जनता, स्कूलों और कॉलेजों के बीच जागरूकता लाने के प्रयास में, मंत्रालय के वित्तीय समर्थन के साथ देश भर में हर साल 22 अप्रैल को पृथ्वी दिवस मनाया जा रहा है। देश में शैक्षिक और विज्ञान केन्द्रों सहित 300 केन्द्रों में 2008 के बाद से पृथ्वी दिवस मनाना शुरू किया गया।

जनता के बीच, विशेष रूप से कॉलेज, स्कूलों, शैक्षिक संस्थानों और विज्ञान केन्द्रों में जागरूकता लाने के लिए, देश भर में 22 अप्रैल को पृथ्वी दिवस मनाया जाएगा।

टीवी और प्रिंट मीडिया पर लोकप्रिय बनाना

महासागर और वायुमंडलीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी की विभिन्न गतिविधियों पर नेशनल जियोग्राफिक  चैनल द्वारा निर्मित फिल्म "विज्ञान सफारी" को स्थानीय भाषाओं में क्षेत्रीय टेलीविजन चैनलों में कई बार प्रसारित किया गया था।

अंग्रेजी की लोकप्रिय पत्रिकाओं "जियोग्राफी एंड यू", "फ्रंटलाइन", "नमस्कार" और "सृष्टि" और हिंदी में "भूगोल और आप" में प्रकाशित पृथ्वी प्रणाली सेवाओं से संबंधित लेखों को विभिन्न स्कूल में वितरित किया जा रहा है।

महासागर और वायुमंडलीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी की विभिन्न गतिविधियों पर नेशनल जियोग्राफिक  चैनल द्वारा निर्मित फिल्म "विज्ञान सफारी" को स्थानीय भाषाओं में क्षेत्रीय टेलीविजन चैनलों में कई बार प्रसारित किया गया था।

अग्रणी अंग्रेजी और हिंदी पत्रिकाओं में पृथ्वी प्रणाली सेवाओं से संबंधित लेख प्रकाशित किया जाएगा।

अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी विज्ञान ओलंपियाड में भागीदारी

मंत्रालय ने अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी विज्ञान ओलंपियाड में भारतीय छात्रों की भागीदारी का समर्थन किया। 2008 से भारतीय टीम (4 छात्रों) ने एक रजत पदक जीता और ओलंपियाड 2010 में तीन कांस्य पदक जीते।

मंत्रालय भारतीय भूवैज्ञानिक सोसायटी द्वारा आयोजित अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी विज्ञान ओलंपियाड में भारतीय छात्रों की भागीदारी को समर्थन देना जारी रखेगा।

वैज्ञानिकों, इंजीनियरों, और प्रौद्योगिकीविदों, विशेषज्ञों, सामाजिक वैज्ञानिकों और प्रयोक्‍ता समुदाय को मंच प्रदान करने के लिए पृथ्वी प्रणाली विज्ञान के क्षेत्र में लगभग 550 कार्यक्रमों को सहायता दी गई। आईजीयू, आईजीसी, आईएससीए, आईएसआरएस, आईआईटी, एनआईटी, राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं, विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों / शैक्षिक संस्थानों, अन्य सरकारी निकायों, गैर सरकारी संगठनों आदि जैसे व्यावसायिक निकाय लाभार्थी हैं।

देश भर के वैज्ञानिकों, इंजीनियरों, प्रौद्योगिकीविदों विशेषज्ञों, सामाजिक वैज्ञानिकों और प्रयोक्‍ता समुदाय को मंच प्रदान करने के लिए पृथ्वी प्रणाली विज्ञान के क्षेत्र में लगभग 1000 कार्यक्रमों की सहायता देना प्रस्तावित है।

घ) वितरण योग्‍य :

मंत्रालय, भारत और विदेशों में लगभग 50 प्रदर्शनियों में भाग लेगा जिसमें अनुसंधान और विकास कार्यक्रमों और उपलब्धियों पर प्रकाश डाला जाएगा। देश भर में 22 अप्रैल को पृथ्वी दिवस मनाया जाएगा। मंत्रालय अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी विज्ञान ओलंपियाड में भारतीय छात्रों की भागीदारी का समर्थन करेगा। महासागर और वायुमंडलीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी की विभिन्न गतिविधियों पर स्थानीय भाषाओं में क्षेत्रीय टेलीविजन चैनलों में फिल्म्स का निर्माण और प्रसारण किया जाएगा। पृथ्वी प्रणाली सेवाओं से संबंधित लेख अग्रणी 50 समाचार पत्र और पत्रिकाओं में प्रकाशित किए जाएंगे। वैज्ञानिकों, इंजीनियरों, और प्रौद्योगिकीविदों विशेषज्ञों, सामाजिक वैज्ञानिकों और प्रयोक्‍ता समुदाय को मंच प्रदान करने के लिए पृथ्वी प्रणाली विज्ञान के क्षेत्र में लगभग 1300 घटनाओं का समर्थन किया जाएगा।

ङ) बजट की आवश्‍यकता : 75 करोड़

(करोड़ रु)

बजट आवश्‍यकता
योजना का नाम 2012-13 2013-14 2014-15 2015-16 2016-17 कुल
आउटरीच और जागरूकता कार्यक्रम 11.00 12.50 14.00 17.00 20.00 75.00

 

Last Updated On 06/08/2015 - 14:37
Back to Top